महाराष्ट्र एग्री टेक योजना 2019 | Maharashtra Agri Tech Yojana 2019

महाराष्ट्र सरकार द्वारा कृषि प्रबंधन के लिए एक नया ट्रैकिंग सिस्टम आरंभ किया गया है| कृषि प्रबंधन को डिजिटल तरीके से ट्रैक करने के लिए महाराष्ट्र एग्री टेक योजना 2019 (Maharashtra Agri Tech Yojana 2019) आरंभ की गई है|

यह योजना महाराष्ट्र की सरकारी योजनाओं में से एक है| इस योजना के तहत वातावरण, फसलों को होने वाले रोगों की जांच इत्यादि की जाएगी| महाराष्ट्र एग्री टेक योजना (Maharashtra Agri Tech Yojana 2019) द्वारा किसानों को खेती संबंधी जानकारी प्रदान करवाई जाएगी|

किसान इस योजना की मदद से अपनी फसल से जुड़ी जानकारी प्राप्त कर सकते हैं| इस योजना में उपग्रह और ड्रोन तकनीक का भी इस्तेमाल किया गया है|इस योजना से राज्य के कई किसानों को लाभ मिलेगा| इस योजना में बीज बोने से लेकर फसल की कटाई तक किसानों की हर संभव मदद की जाएगी|

नोट :-  महाराष्ट्र की अन्य सरकारी योजनाओं के बारे में जानने के लिए आप यहां पर क्लिक करें|

महाराष्ट्र एग्री टेक योजना 2019

महाराष्ट्र एग्री टेक योजना 2019

महाराष्ट्र एग्री टेक योजना 2019 विवरण

  • इस योजना के प्रथम चरण में 6 जिलों की रबी की फसल के बुवाई क्षेत्र का विवरण डाला जाएगा|
  • यह योजना महाराष्ट्र के मुख्यमंत्री जी द्वारा आरंभ की गई है|
  • इस योजना से कृषि प्रबंधन को डिजिटल रूप से ट्रैक किया जाएगा|
  • किसानों को आने वाली मुश्किलों का समाधान इस योजना के तहत किया जाएगा|
  • इस योजना द्वारा राज्य के लगभग 1 करोड़ 50 लाख किसानों को डिजिटल मंच लाया जाएगा|
  • फसलों संबंधी रोगों के कारण किसानों का बहुत नुकसान होता है|
  • यह योजना किसानों को होने वाले नुकसान को काफी हद तक कम करेगी|

महाराष्ट्र एग्रीटेक योजना (Maharashtra Agri Tech Yojana 2019) से किसानों को फसलो के रोगों के बारे में सूचित किया जाएगा तथा मौसम में होने वाले बदलाव के बारे में भी किसानों की सहायता की जाएगी|

महाराष्ट्र एग्री टेक योजना 2019

  • इस योजना द्वारा राज्य के किसानों को बहुत लाभ मिलेगा|
  • महाराष्ट्र के मुख्यमंत्री जी द्वारा कहा गया है कि जैसे-जैसे कृषि संबंधी योजनाएं ऑनलाइन हो जाएंगी|
  • वैसे वैसे ही कृषि संबंधी होने वाला किसानों का नुकसान भी कम होता जाएगा|
  • राज्य सरकार द्वारा सैटेलाइट का प्रयोग करके फसल की बुवाई के क्षेत्र को मापा जाएगा|
  • फिर बुवाई से कटाई तक के समय का सर्वेक्षण किया जाएगा|

अन्य किसी भी जानकारी तथा सहायता के लिए आप नीचे दिए गए कॉमेंट बॉक्स में कॉमेंट कर सकते हैं|

Share

Leave a Reply

Your email address will not be published.