कुंभ प्रयागराज 2019 भारत | Kumbh Prayagraj 2019 India | दिव्य कुंभ भव्य कुंभ

कुंभ प्रयागराज 2019 | Kumbh Prayagraj 2019 | कुंभ प्रयागराज 2019 भारत | Kumbh Prayagraj 2019 India | Kumbh Prayagraj

कुंभ प्रयागराज का इतिहास हजारों वर्ष पुराना है| परंतु 800 वर्ष पूर्व शंकराचार्य जी ने इसको नया स्वरूप दिया| आजाद भारत का पहला कुंभ 1954 मैं बड़ी धूमधाम से मनाया गया| जिसमें पहले प्रधानमंत्री जवाहरलाल नेहरू और प्रथम राष्ट्रपति डॉ राजेंद्र प्रसाद ने भी भाग लिया| इस बार कुंभ 15 जनवरी 2019 से 4 मार्च 2019 तक मनाया जाएगा|

उत्तर प्रदेश के मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ और उनकी सरकार ने इस बार कुंभ को भव्य बनाने के लिए विशेष प्रबंध किए हैं| प्रयागराज भारत के प्रमुख नगरों से सड़क, रेल, वायु मार्ग से जुड़ा है| इस बार कुंभ में देश-विदेश से लगभग 12 करोड़ लोग पवित्र संगम में स्नान करेंगे| भारत के प्रधानमंत्री श्री नरेंद्र मोदी और मॉरीशस के प्रधानमंत्री भी इसमें भाग लेंगे|

 कुंभ प्रयागराज 2019 अखाड़ों की पेशवाई

  • साधु संत जुलूस की शक्ल में जब नगर के प्रवेश द्वार पर पहुंचते हैं तो नगर अधिकारी उनका भव्य स्वागत करते हैं|
  • हाथी घोड़ों पर सवार बैंड बाजे के साथ साधु संतों की इस धार्मिक यात्रा को पेशवाई कहते हैं|
  • इस बार कुंभ महापर्व में किन्नर अखाड़ा भी शामिल हुआ है जो कि आकर्षण का मुख्य केंद्र है|
  • यूनेस्को ने कुंभ को मानवता की अमूर्त संस्कृति धरोहर के रूप में मान्यता दी है|

    कुंभ प्रयागराज 2019

    कुंभ प्रयागराज 2019

  • इस बार कुंभ पूजन भारत के प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने किया| जिसमें 72 देशों के राजनायको ने अपने देश के झंडे लहराए|
  • स्वामी विवेकानंद के शब्दों में प्रत्येक हिंदू को जीवन में एक बार कुंभ स्नान अवश्य करना चाहिए|
  • सदी के महानायक अमिताभ बच्चन ने कुंभ को आस्था और विज्ञान का संगम कहा है|

कुंभ प्रयागराज 2019 मुख्य स्नान

  • 14 जनवरी – मकर सक्रांति
  • 15 जनवरी – शाही स्नान
  • 17 जनवरी – पुत्रदा एकादशी
  • 21 जनवरी –  पोर्ष पूर्णिमा
  • 24 जनवरी – माघ कृष्ण चतुर्थी
  • 31 जनवरी – माघ कृष्ण एकादशी
  • 4 फरवरी – शाही स्नान
  • 10 फरवरी –  अंतिम शाही स्नान
  • 12 फरवरी – रथ सप्तमी
  • 13 फरवरी – कुंभ सक्रांति
  • 19 फरवरी –  माघी पूर्णिमा
  • 4 मार्च – महाशिवरात्रि

कुंभ प्रयागराज 2019 मुख्य आकर्षण

टेंट सिटी :- पर्यटकों के लिए 60 एकड़ भूमि में सभी सुविधाओं से युक्त 1200 हाईटेक टेंट लगाए गए हैं| जिनका प्रतिदिन का किराया 1000 रुपए से 32000 रुपए तक है|

पेंटिंग :-  कुंभ प्रयागराज में 15 लाख वर्ग फीट एरिया में कुंभ धर्म और संस्कृति से जुड़ी पेंटिंग बनाई गई है|

सजावट :- त्रिवेणी संगम में 40 हजार LED लाइटों से भव्य सजावट की गई है|

पार्किंग :- कुंभ में आने वाले 6 लाख वाहनों के लिए पार्किंग बनाई गई है|

स्पेशल ट्रेन :- कुंभ के लिए देश के कोने-कोने से श्रद्धालुओं के लिए 800 स्पेशल ट्रेन चलाई जा रही हैं|

घाट :- संगम में 10 किलोमीटर लंबे घाट बनाए गए हैं|

एयर बोट :- वाराणसी से प्रयागराज के लिए एयरबोट की सुविधा उपलब्ध करवाई गई है|

लेजर शो :- संगम पर किले की दीवार पर लेजर शो का आयोजन किया गया है| स्क्रीन इतनी बड़ी है कि 1 किलोमीटर दूर से भी देखा जा सकता है|

साइबेरियन पक्षी :- कुंभ में इस बार साइबेरियन पक्षी भी आकर्षण का केंद्र रहेंगे|

कुंभ प्रयागराज 2019

कुंभ प्रयागराज 2019 साइबेरियन पक्षी

कुंभ प्रयाग राज 2019 सुरक्षा व्यवस्था

दिव्य कुंभ सुरक्षित कुंभ :- कुंभ में सुरक्षा के लिए 20,000 पुलिस जवानों को तैनात किया गया है| कुंभ स्थल में 1000 सीसीटीवी कैमरे लगाए गए हैं| सादे कपड़ों में भी पुलिस कर्मी तैनात किए गए हैं| सुरक्षा के लिए कमांड एंड कंट्रोल केंद्र की स्थापना की गई है| जहां से CCTV कैमरों की निगरानी की जाएगी|

कुंभ प्रयागराज 2019 चिकित्सा

  • कुंभ में चिकित्सा संबंधी जरूरतों को पूरा करने के लिए 100 बेड का अस्पताल बनाया गया है| जिसमें इमरजेंसी सहित ऑपरेशन थिएटर की सुविधा भी उपलब्ध है|
  • हर सेक्टर में एंबुलेंस की व्यवस्था की गई है|
  • इमरजेंसी के लिए एयर एंबुलेंस की व्यवस्था भी करवाई गई है|

कुंभ प्रयागराज 2019 स्वच्छता

  • कुंभ पर्व में स्वच्छता बनाए रखने के लिए विशेष प्रबंध किए गए हैं|
  • 1,22500 टॉयलेट बताए गए हैं|
  • 20,000 सफाई कर्मी तैनात किए गए हैं|

कुंभ विश्व का सबसे बड़ा धार्मिक मेला है| स्वामी विवेकानंद जी ने कहा था कुंभ में लघु भारत के दर्शन होते हैं| जिसने भारत में कुंभ नहीं देखा उसने कुछ नहीं देखा| कुंभ हमारी संस्कृति का अभिन्न अंग है|

Share

Leave a Reply

Your email address will not be published.